शहर

शहर

On

इंसान की एक पहचान उसका शहर  भी होता है जहाँ उसके बचपन का अलाद्क्पन , जवानी के किस्से और ज़िन्दगी की समझ जैसे उसकी यादों के पिटारे में सिमट जाती  है कुछ या बहुत सालों का यह सफ़र जाने कब रास्ता बदल लेता है…